Skip to main content

गणित में आकलन Mathematics

कोर्स के बारे में:

सीखने सिखाने की प्रक्रिया में आकलन भले ही सबसे अंतिम चरण हो, लेकिन यह काफी महत्वपूर्ण भी है। अधिकतर हम सीखने सिखाने के उद्देश्यों पर ध्यान तो देते हैं लेकिन आकलन  के उद्देश्यों पर नहीं जबकि ये दोनों आपस में काफी जुड़े हुए हैं। इस कोर्स में आकलन के उद्देश्यों, तरीकों और इसे कब करना चाहिए पर रौशनी डाली गई है। साथ में आकलन के बाद फीडबैक की प्रक्रिया कैसी हो जिससे बच्चों को सीखने में मदद  मिले, इसके बारे में भी बात होगी।

कोर्स की लेखिका:

निशा रामचंद्रन ' हेरिटेज स्कूल, गुडगाँव' में प्राथमिक कक्षाओं के बच्चों को पढ़ा चुकी हैं। वह स्कूल में पाठ्यक्रम का निर्माण, शिक्षक प्रशिक्षण आदि भी कर चुकी हैं। उनका रुझान इन दिनों शोध, ख़ास तौर पर गणित शिक्षण, और शिक्षा-नितियों को बनाने और उनके ज़मीनी स्तर पर कार्यान्वन किए जाने पर है।

संदर्भ-सूची:

1. https://www.indiatoday.in/education-today/news/story/cbse-scraped-academic-reform-961013-2017-02-16

2. https://www.livehindustan.com/ncr/gurgaon/story-now-cce-points-will-end-1968720.html

3. https://www.punjabkesari.in/education-and-jobs/news/cbse-has-made-changes-in-evaluation-process-will-not-need-scrutiny-765982

4. Almarode, J., Fisher, D., Thunder, K., Hattie, J., & Frey, N. (2019). Teaching Mathematics in the Visible Learning Classroom, Grades 3-5. Corwin Press.

Enroll