Skip to main content

सुनने का कौशल: एक ज़रूरी समझ Language

कोर्स कौन करें? 

यह कोर्स प्राथमिक और माध्यमिक, दोनों ही कक्षाओं के शिक्षक के फायदेमंद हो सकता है| इस कोर्स में बच्चों की आवाज़ों और अलग -अलग तरह की बातचीत का उनकी सीखने की प्रक्रिया में प्रभाव को समझने का मौक़ा दिया गया है| साथ ही इसमें  शिक्षकों को बच्चों की बातचीत को कक्षा में जगह व महत्व देते हुए, बाल केंद्रित कक्षा बनाने के लिए मुमकिन सुझाव भी मिलेंगे|  

कोर्स की लेखिका 

इस कोर्स की लेखिका श्रीमती माया कृष्णन, एक शिक्षाविशरद है जो कि भाषा के क्षेत्र में बच्चों के साथ काफी समय से काम कर रही हैं| उन्होंने टाटा इंस्टिट्यूट ऑफ़ सोशल साइंसेज, मुंबई से प्रारम्भिक (elementary ) शिक्षा में मास्टर्स किया है| साथ ही उन्हें जापान में, दिल्ली के प्राइवेट स्कूल में और मुंबई के एक NGO में भाषा पढ़ाने का 10 साल का अनुभव भी है| फिलहाल वह ज़िम्बाब्वे में हरारे इन्तेर्नतिओन स्कूल में ‘सीखने को समर्थन’ प्रोजेक्ट में शिक्षिका के रूप में काम कर रही हैं|

References: 

1. Gordon Wells:  Learning to Talk 

2. TESS India: Speaking and listening

3. Dhir Jhingan: Crucial Role of Oral Language

4. Niel Mercer: Value of Exploratory talk

5. Gordon Wells: Children talk their way into literacy

6. Gorden Wells: Helping children make knowledge their own

7. Douglas Barnes: Exploratory talk for learning 

8. Northeastern Catholic school district board: Talking about Oral Language

9. National Curriculum Framework 2005

10. Douglas Fisher, Nancy Frey, Carol Rothenberg: Content-Area Conversations (ASCD.org)

11. A joint committee of the Association for childhood education international, Association for supervision and curriculum development, International Reading Association, National Council of teachers of English : Children and Oral language

12. Hindi and English text books (I to VIII), NCERT 

Enroll